गृह लक्ष्मी योजना | Gruha Lakshmi Yojana

 गृह लक्ष्मी योजना के उद्देश्य, ऑनलाइन आवेदन, ऑफलाइन आवेदन, पात्रता, अपात्रता, आवश्यक दस्तावेज,लाभ,आर्थिक सहायता आदि बिंदुओं पर आसान शब्दों में विश्लेषण।

परिचय 

कर्नाटक सरकार ने राज्य में महिला सशक्तिकरण को बल प्रदान करने के लिए गृह लक्ष्मी योजना की शुरुआत की है। चुकी परिवार के प्रबंधन में महिला का महत्वपूर्ण योगदान होता है । परिवार में महिलाओं की भूमिका पुरुष से कम नहीं होती है। इसलिए इस योजना में महिला को परिवार का मुखिया मानते हुए इस योजना की नियम व रूप रेखा तैयार की गई है।

      Gruha Lakshmi Yojana के अंतर्गत परिवार की महिला मुखिया को प्रतिमाह ₹2000 देने का लक्ष्य रखा गया है । जैसा कि हम सभी जानते हैं – महिला सशक्तिकरण का अर्थ है भौतिक या आध्यात्मिक, शारीरिक या मानसिक, सभी स्तर पर महिलाओं में आत्मविश्वास पैदा कर उन्हें सशक्त बनाने की प्रक्रिया, महिला सशक्तिकरण कहलाता है।

                    यदि दूसरे शब्दों में कहा जाए तो, समाज में महिलाओं के वास्तविक अधिकार को प्राप्त करने के लिए उन्हें सक्षम बनाना ही महिला सशक्तिकरण है। इस प्रक्रिया से महिला शक्तिशाली बनती है। जिससे वह अपने जीवन से जुड़े सभी फैसले स्वयं ले सकती है और परिवार व समाज में अच्छे से रह सकती है। यह एक ऐसी ताकत है कि समाज के साथ-साथ देश को बदल सकती है।

                     महिला सशक्तिकरण की दृष्टिकोण से उठाया गया यह कदम कर्नाटक सरकार के लिए महत्वपूर्ण व सराहनीय है। Gruha Lakshmi Yojana की शुरुआत कर्नाटक प्रदेश के कांग्रेस अध्यक्ष डी के शिवकुमार ने 18 मार्च 2022 को किया था। इस योजना को पुनः 30 अगस्त 2023 को लांच किया गया। यह योजना महिलाओं के लिए हिंदुस्तान की सबसे बड़ी मनी ट्रांसफर योजना है । यह योजना कर्नाटक मॉडल, महिला केंद्रित व्यवस्था पर आधारित है।

गृह लक्ष्मी योजना के उद्देश्य

  1. महिलाओं को स्वावलंबी बनाना ताकि महिलाएं अपने जीवन से जुड़े सभी फैसले को स्वयं कर सके अर्थात महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए इस योजना की शुरुआत की गई।
  2. महिलाओं को आर्थिक स्तर पर, आर्थिक सहायता प्रदान कर आर्थिक बल प्रदान करना, ताकि उन्हें आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनने में सहायता मिले।
  3. किसी भी परिवार में महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका होती है किंतु समझ अनदेखा करता अतः महिलाओं की भूमिका को प्रोत्साहित करने की उद्देश्य से भी इस योजना की शुरुआत की गई।
  4. इस योजना के माध्यम से महिलाओं के आजीविका को बेहतर बनाना, ताकि अपने जीवन शैली को उन्नत बना सके।
  5. इस योजना से सहायता राशि प्राप्त कर महिलाएं अपने जीवन की आवश्यक-आवश्यकताओं की पूर्ति कर सकती है, जिससे महिला सामाजिक स्तर पर मजबूत बनेंगी।
  6. यह योजना गृहिणियों को वित्तीय सहायता प्रदान कर उनके परिवार के प्रति उनके योगदान में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेंगी।
  7. इस योजना की सहायता राशि के माध्यम से महिलाओं के जीवन से गरीबी दूर होगी।

गृह लक्ष्मी योजना के लाभ

  • कर्नाटक, Gruha Lakshmi Yojana का लाभ कर्नाटक राज्य की लगभग सभी महिलाओं को दिया जाएगा।     
  • इस योजना के अंतर्गत राज्य की प्रत्येक महिला को ₹2000 प्रतिमाह उसके खाते में हस्तांतरित किये जायेंगे,जिससे महिलाओं को आर्थिक रूप से मदद मिलेगी ताकि उनका सामाजिक व आर्थिक स्तर पर विकास हो सके।
  • कर्नाटक गृह लक्ष्मी योजना के अंतर्गत भूमिहीन परिवार की महिलाओं को भी ₹2000 की राशि प्रतिमाह वितरित की जायेगी।
  • महिलाओं को₹2000 की सहायता राशि प्राप्त करने के लिए, उनका खाता डीबीटी सक्रिय होना चाहिए। डीबीटी सक्रिय नहीं होने पर इस योजना का लाभ नहीं मिल पायेगा।

 नोट- डीबीटी का शाब्दिक अर्थ होता है डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर अर्थात प्रत्यक्ष लाभ का भुगतान। सरकार द्वारा अनेक योजनाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए,लाभुकों को डीबीटी के माध्यम से ही भुगतान किया जाएगा। इस प्रक्रिया से बिचौलियों द्वारा भ्रष्टाचार की संभावनाएं कम हो जाती है, राशि के हस्तांतरित की प्रक्रिया भी तेज हो जाती है और स्थानांतरण की प्रक्रिया असफल होने की संभावना भी कम हो जाती है। डीबीटी कार्यक्रम 1 जनवरी 2013 को भारत के चुनिंदा शहरों में लंच किया गया था।

                      महिलाओं के बैंक खाता को आधार लिंक डीबीटी सक्रिय करने के लिए अपने बैंक की शाखा में या उस बैंक के अधिकृत कियोस्क में जाकर, आधार लिंक के साथ डीबीटी सक्रिय करने का सहमति पत्र भरकर देना होगा। इसके बाद उसे बैंक की शाखा द्वारा या उसके अधिकृत कियोस्क के द्वारा आवेदिका का  बैंकिंग ई-केवाईसी सत्यापन के बाद उनके खाते में आधार लिंक डीबीटी सक्रिय कर दिया जाएगा।

गृह लक्ष्मी योजना , Researcher Rajaram Bharati

गृह लक्ष्मी योजना की पात्रता

  • कर्नाटक Gruha Lakshmi Yojana का लाभ लेने के लिए सबसे पहले लाभुक को कर्नाटक राज्य का स्थाई निवासी होना आवश्यक है।
  • परिवार की महिला मुखिया के नाम से कोई जमीन नहीं होनी चाहिए अन्यथा गृह लक्ष्मी योजना आवेदन पत्र खारिज कर दिया जाएगा।
  • खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग द्वारा वितरित अंत्योदय राशन कार्ड अर्थात बीपीएल राशन कार्ड में अंकित महिला मुखिया को इस योजना का लाभ दिया जायेगा।
  • अंत्योदय योजना के अंतर्गत आने वाले एपीएल राशन कार्ड में अंकित महिला मुखिया को भी इस योजना का लाभ दिया जायेगा।
  • सरकारी कर्मचारी को इस योजना का लाभ नहीं दिया जायेगा।
  • एक ही परिवार के एक से अधिक महिलाओं को इस योजना का लाभ नहीं दिया जायेगा।
  • महिला आवेदिका के द्वारा दी गई आवेदन में स्व-घोषणा के आधार पर मंजूरी दी जाएगी। इसके बाद आवेदन की जांच की जायेगी । यदि यह पाया जाता है, कि गलत सूचना के आधार पर योजना का लाभ उठाया गया है, तो पहले से भुगतान की गई राशि को आवेदिका से वसूली किया जाएगा साथ ही उसपर उचित कार्रवाई की जायेगी।
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए लाभार्थी को बैंक खाता से आधार लिंक अर्थात डीबीटी सक्रिय खाता होना चाहिए।
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदिका का उम्र, कम से कम 18 वर्ष पूरा होना चाहिए या 18 वर्ष से अधिक होना चाहिए।
  • आवेदिका के पास सक्षम अधिकारियों द्वारा जारी एससी स्ट ई प्रमाण पत्र होना आवश्यक है नहीं होने की स्थिति में उन्हें अवश्य बनवाना पड़ेगा।

गृह लक्ष्मी योजना की अपात्रता-

  • परिवार की महिला मुखिया या परिवार की महिला मुखिया का पति, यदि आयकर दाता हो तो इस स्थिति में उन्हें इस योजना का लाभ से वंचित रखा जायेगा।
  • परिवार की महिला मुखिया या परिवार की महिला मुखिया का पति यदि जीएसटी रिटर्न का भुगतान करता हो तो उन्हें भी इस योजना के लाभ से वंचित रखा जायेगा।
  • परिवार की महिला मुखिया अर्थात लाभार्थी के पास डीबीटी सक्रिय खाता होना आवश्यक है, डीबीटी सक्रिय खाता नहीं होने की स्थिति में इस योजना का लाभ नहीं मिल सकेगा।
  • यदि आवेदिका ने पिछले वर्ष किसी भी सरकारी योजना से वित्तीय सहायता प्राप्त किया है तो उन्हें इस योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा।
  • आवेदिका की उम्र 18 वर्ष पूरा नहीं होने की स्थिति में उन्हें इस योजना का लाभ नहीं दिया जायेगा।

गृह लक्ष्मी योजना हेतु आवश्यक दस्तावेज-

  1. परिवार के महिला मुखिया का आधार कार्ड
  2. परिवार का राशन कार्ड
  3. परिवार के महिला मुखिया के पति का आधार कार्ड
  4. परिवार के महिला मुखिया के बैंक खाते का विवरण
  5. आधार कार्ड से लिंक मोबाइल नंबर

नोट – परिवार की महिला मुखिया का बैंक खाता आधार से लिंक होना चाहिए साथ ही बैंक खाता डीबीटी सक्रिय होना चाहिए।

गृह लक्ष्मी योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन

  • इसके लिए सबसे पहले गृह लक्ष्मी योजना के आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यदि आप पहली बार आवेदन कर रहे हैं तो पहले रजिस्ट्रेशन करना होगा।
  • रजिस्टेशन के बाद आवेदन कर्ता के मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी पर रजिस्ट्रेशन नंबर अर्थात एप्लीकेशन आईडी और पासवर्ड प्राप्त होगा जिसके माध्यम से आवेदक, आवेदन करने के लिए पुनः लॉगिन कर सकेंगे।
  • सफलता पूर्वक आवेदन करने के बाद आधिकारिक वेबसाइट पर आवेदन की स्थिति  विकल्प पर जाकर, एप्लीकेशन आईडी व पासवर्ड दर्ज कर पुनः लॉगिन कर आवेदक अपने आवेदन की स्थिति देख सकेंगे।
  • आवेदन की स्थिति विकल्प से आपको सभी जानकारी मिल जाएगी जैसे-

1.आपका आवेदन सत्यापित हुआ या नहीं।

2.आपके खाते में पैसे का हस्तांतरण हुआ या नहीं।

3.यदि आपका आवेदन सत्यापित नहीं हुआ तो सत्यापित नहीं होने का कारण भी इसी

विकल्प के माध्यम से पता चलेगा।

4.लाभार्थियों की सूची भी इसी विकल्प के माध्यम से देखा जा सकता है।

  • यदि आप ऑनलाइन आवेदन करने में असमर्थ हैं तो अपने नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर में या ऐसे स्थान पर जहां ऑनलाइन आवेदन करने की सुविधा हो, वहां जाकर आप अपना आवेदन ऑनलाइन करवा सकते हैं या फिर ऑफलाइन आवेदन भी जमा कर सकते हैं।
योजना का नामगृह लक्ष्मी योजना
लागू किया गया कर्नाटक सरकार के द्वारा
पात्रता कर्नाटक राज्य के स्थायी निवासी को
पात्र व्यक्ति परिवार की महिला मुखिया
सहायता राशि ₹2000 प्रतिमाह
आधिकारिक वेबसाइटयहाँ क्लिक करें
संपर्क सूत्र8147500500, 1902
आवेदन फॉर्म यहाँ क्लिक करें
आवेदन की स्थिति यहाँ क्लिक करें

गृह लक्ष्मी योजना के लिए ऑफलाइन आवेदन कैसे करें-

परिवार की महिला मुखिया के द्वारा ग्राम वन, बेंगलुरु वन, कर्नाटक वन कार्यालय, बापूजी सेवा केंद्रों या नाडा कचेरीस में से किसी भी एक कार्यालय में जाकर आवेदन प्राप्त कर सकते हैं, साथ ही आवेदन प्राप्त करने के बाद, आवेदन पत्र को भरकर, उल्लेखित स्थान में से किसी भी एक केंद्र पर जाकर आवेदन के साथ आवश्यक दस्तावेज को संलग्न कर, आवेदन जमा कर सकते हैं।

                  ऑनलाइन वऑफलाइन जमा किए गए आवेदन की स्थिति आधिकारिक वेबसाइट पर आवेदन की स्थिति विकल्प पर जाकर देखा जा सकता है।

                            इस योजना के पात्र लाभार्थी 15 जुलाई 2013 से आवेदन कर सकेंगे और 15 अगस्त को चयनित लाभार्थी के बैंक खाते में धनराशि हस्तांतरित की जाएगी इसी प्रकार फिर आगामी आने वाले प्रत्येक महीने में भी राशि हस्तांतरित की जायेगी।

निष्कर्ष-

 गृह लक्ष्मी योजना के अंतर्गत कर्नाटक में लगभग 1 करोड़ 28 लाख महिला मुखिया को फायदा मिलने की उम्मीद है । इस योजना का मकसद परिवारों को सशक्त बनाना है इस योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए प्रत्येक वर्ष कर्नाटक राज 32000 करोड रुपए अलॉट करेगी।

                                    इस योजना के अंतर्गत  महिलाओं को हर महीने ₹2000 मिलेंगे यानी कि गृह लक्ष्मी योजना के अंतर्गत हर साल प्रत्येक महिला को ₹24000 मिलेंगे । 18 वर्ष से कम उम्र की महिलाओं को इस योजना के अंतर्गत हर महीने ₹2000 नहीं दिए जाएंगे। लाभार्थी सूची सेवासिंधु गारंटी योजना पोर्टल पर भी प्रदर्शित की जाएगी आप अगर सूची देखना चाहते हैं तो सेवासिंधु गारंटी योजना के पोर्टल पर जाकर देख सकते कि आप को हर महीने ₹2000 मिलेंगे या फिर नहीं मिलेंगे  अगर आपको ऑनलाइन फॉर्म भरना नहीं आता है आपको कोई भी जानकारी नहीं है तो आप किसी भी कॉमन सर्विस सेंटर पर जाकर Gruha Lakshmi Yojana ऑनलाइन फॉर्म भर सकेंगे।

गृह लक्ष्मी योजना संबंधित महत्वपूर्ण लिंक-

गृह लक्ष्मी योजना संबंधित महत्वपूर्ण बिंदु –

  • इस योजना के अंतर्गत राशन कार्ड में उल्लेखित घर के मालिक को गृह लक्ष्मी योजना का लाभार्थी माना जायेगा।
  • इस योजना के अंतर्गत परिवार की सासू मां को घर का मालकिन समझा जायेगा, बाकी को परिवार का सदस्य माना जायेगा।
  • यदि किसी कारणवश  घर की मालकिन की मृत्यु हो जाती है, तो आवेदन को फिर से अपडेट किया जाएगा और उसके बाद उसकी बड़ी बहू को परिवार का महिला मुखिया माना जायेगा।
  • निर्धारित तिथियां व समय की जानकारी के लिए 8147500500 पर एसएमएस किया जा सकता है।
  • गृह लक्ष्मी योजना से संबंधित किसी भी प्रकार की सहायता के लिए 1902 पर कॉल किया जा सकता है।
  • गृह लक्ष्मी योजना में आवेदन करने से लेकर लाभ प्राप्त करने तक की पुरी प्रक्रिया निःशुल्क है । कहीं भी किसी भी प्रकार का कोई शुल्क नहीं लिया जायेगा।
  •  इस योजना का लाभ लेने के लिए पति-पत्नी का संयुक्त बैंक खाता मान्य नहीं है। इसके लिए बैंक खाता स्वयं परिवार की महिला मुखिया का होना चाहिए।
  • यदि आवेदिका के द्वारा गलत जानकारी प्रदान कर, इस योजना का लाभ लिया जाता है, तो इस स्थिति में आवेदिका द्वारा प्राप्त सभी राशि की वसूली की जायेगी साथ ही उन पर उचित कार्रवाई भी की जायेगी।
  • गृह लक्ष्मी योजना, कर्नाटक सरकार की एक प्रमुख महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम है। इस योजना के माध्यम से पंजीकृत सूची वाले परिवार के महिला मुखिया को प्रत्येक माह ₹2000 का वितरण किया जाएगा।

इन्हें भी आवश्य पढ़ें-

राजीव गाँधी किसान न्याय योजना (RGNY)- हिंदी भाषा में

मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना(MMSKY)-हिंदी भाषा में

राजीव गाँधी किसान न्याय योजना (RGNY)- in english language

मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना(MMSKY)-in english language

राजीव गाँधी भूमिहीन कृषक मजदूर न्याय योजना-in english language

मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना-in english language

गृह लक्ष्मी योजना – in english language

Leave a comment