मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना

मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना के उद्देश्य, ऑनलाइन आवेदन, पात्रता, लाभ,आर्थिक सहायता आदि बिंदुओं पर आसान शब्दों में विश्लेषण।

Mukhya Mantri Ladli Bahana Yojana परिचय 

      मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना के माध्यम से मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की महिलाओं व बच्चों के स्वास्थ्य एवं पोषण तथा आर्थिक सहायता के दृष्टिकोण से महिलाओं की स्थिति को मजबूत बनाना चाहते हैं, ताकि महिलाएं स्वयं पर निर्भर रह सकें और उन्हें अन्य किसी व्यक्ति पर आश्रित रहने की कोई आवश्यकता ना पड़े । इस योजना की शुरुआत माननीय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने 28 जनवरी 2023 से की।

             जब 2020-21 में, पांचवीं बार राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण किया गया तो पाया गया कि 23 प्रतिशत महिलाएं बॉडी मास इंडेक्स से कम स्तर पर हैं साथ ही 15 वर्ष से 49 वर्ष के आयु वर्ग के 54.7 प्रतिशत महिलाओं की संख्या एनीमिया नामक रक्त की बीमारी से ग्रसित है।

                              मध्य प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में 57.7 प्रतिशत पुरुष वर्ग को रोजगार उपलब्ध है और मात्र 23.3 प्रतिशत महिलाओं को रोजगार है। जबकि शहरी क्षेत्रों में 55.9 प्रतिशत पुरुष वर्ग को रोजगार उपलब्ध है और मात्र 13.6 प्रतिशत महिलाओं को रोजगार उपलब्ध है,अर्थात रोजगार के क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी पुरुष वर्ग के मामले में काफी कम है।

             अतः माननीय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने महिलाओं व उन पर आश्रित बच्चों के स्वास्थ्य और पोषण साथ ही आर्थिक स्तर पर मजबूती प्रदान करने के लिए Mukhya Mantri Ladli Bahana Yojana की शुरुआत की।

नोट- 

बॉडी मास इंडेक्स (BMI)- यह एक बॉडी फैट मापने का केलकुलेटर है। जो किसी व्यक्ति की ऊंचाई (सेंटीमीटर में) में वजन (किलोग्राम में) से भाग देने पर जो वैल्यू प्राप्त होता है बॉडी मास इंडेक्स कहलाता है।

   यदि यदि बीएमआई 18.5 से कम है तो इसे बढाये जाने की जरूरत है। यदि बीएमआई 18.5 से 24.9 के बीच है तो आपका बीएमआई अस्तर नॉर्मल है। यदि बीएमआई 25 या उससे अधिक है तो सतर्क हो जाएं आपको विभिन्न प्रकार की बीमारी होने की आशंका है। जैसे डायबिटीज, हार्ट स्ट्रोक आदि होने का डर है।

राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण- यह राष्ट्रीय व राज्य स्तर पर जनसंख्या के आधार पर परिवार नियोजन, स्वास्थ्य, पोषण, प्रजनन क्षमता, शिशु व बाल मृत्यु दर, मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य, एनीमिया, प्रजनन स्वास्थ्य का एक रिपोर्ट के माध्यम से उपयोग व गुणवत्ता के बारे में जानकारी देता है।

             भारत सरकार का स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय इस सर्वेक्षण के लिए समन्वय और तकनीकी में मार्गदर्शन प्रदान करने के लिए मुंबई स्थित अंतरराष्ट्रीय जनसंख्या विज्ञान संस्थान नोडल एजेंसी के रूप में कार्य करता है।

इस योजना से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण शब्द जिसका अर्थ कुछ इस प्रकार है-

  1. समग्र आईडी- मध्यप्रदेश राज्य में वर्तमान में रह रहे परिवारों की पहचान के लिए जारी की गई एक यूनिक आईडी होती है, जो समग्र पोर्टल के माध्यम से प्राप्त किया जाता है।
  2. परिवार- इस योजना में परिवार शब्द का अर्थ है, पति-पत्नी व उन पर आश्रित बच्चे (जिनका जन्म दिया हो)।
  3. स्थानीय निवासी- इस योजना के अंतर्गत स्थानीय निवासी शब्द का अर्थ है, मध्यप्रदेश में रह रहे व्यक्ति,जिनको वहां की नागरिकता प्राप्त है।
  4. आयकरदाता- वह व्यक्ति जो पिछले वर्ष में इनकम टैक्स रिटर्न भरा हो और जो व्यक्ति इनकम टैक्स रिटर्न भरने की पात्रता रखते हों।
  5. ई-केवाईसी – इस शब्द का मतलब है, की समग्र पोर्टल के माध्यम से, आधार में दर्ज जानकारी को ऑनलाइन ओटीपी के माध्यम से, अथवा बायोमेट्रिक के माध्यम से, सत्यापित करना।
  6. विवाहित महिला- वैसी महिलाएं जिनकी उम्र 1 जनवरी तक 23 वर्ष से 60 वर्ष के बीच है, साथ ही विवाहित हो, जिसमें विधवा तलाकशुदा एवं परित्यक्ता भी शामिल है।

                 Mukhya Mantri Ladli Bahana Yojana में नए संशोधन के अनुसार वैसी महिलाएं जिनकी उम्र 1 जनवरी तक 21 वर्ष पूर्ण हो रही है,वैसी महिलाएं भी इस योजना का लाभ ले सकेंगी।

  1. पोर्टल अथवा ऐप- पोर्टल/ऐप का मतलब है कि इस योजना का लाभ दो माध्यम से उठाया जा सकता है- पहला इस योजना से संबंधित एक ऑफिशियल वेबसाइट है, जिसके माध्यम से आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

                           दूसरा Mukhya Mantri Ladli Bahana Yojana के लिए एक मोबाइल एप्लीकेशन भी प्ले स्टोर पर उपलब्ध है, जिसके माध्यम से भी आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं और इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना, Researcher Rajaram Bharati

मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना का उद्देश्य

  1. महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए एवं उन पर आश्रित बच्चों (जो बच्चा उस महिला के द्वारा जन्म दिया गया हो) के स्वास्थ्य एवं पोषण में लगातार सुधार को बनाए रखने के लिए, जिससे जच्चा-बच्चा दोनों का सर्वांगीण विकास हो।
  2. महिलाओं को आर्थिक स्तर पर आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से इस योजना की शुरूआत की गई है।
  3. किसी भी परिवारिक मामले में निर्णय लिए जाने में, महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से Mukhya Mantri Ladli Bahana Yojana की शुरुआत की गई।

मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना हेतु आवश्यक दस्तावेज

  1. समग्र पोर्टल द्वारा जारी परिवार आईडी या सदस्य आईडी या समग्र आईडी
  2. आवेदक का आधार कार्ड होना आवश्यक है। इस आधार कार्ड के माध्यम से समग्र पोर्टल पर ई-केवाईसी अर्थात आधार लिंक मोबाइल नंबर पर ओटीपी या बायोमेट्रिक के जरिए सत्यापन किया जाएगा ।

         ई-केवाईसी ना होने की स्थिति में, अर्थात सत्यापन न होने की स्थिति में महिलाएं अपने पास के एमपी ऑनलाइन सेंटर, सीएससी किओस्क में जाकर अपनी समग्र ई-केवाईसी करवा सकती हैं ।

      इसके लिए महिलाओं को कोई भी राशि देने की आवश्यकता नहीं होगी। चुकी सरकार प्रत्येक ई-केवाईसी के लिए कियोस्क को 15 रूपये देती है।

  1. समग्र पोर्टल में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर
  2. महिलाओं को स्वयं का बैंक खाता होना आवश्यक है, संयुक्त बैंक खाता इस योजना के लाभ के लिए मान्य नहीं है।
  3. महिलाओं के स्वयं के बैंक खाते में आधार लिंक होना आवश्यक है क्योंकि इस योजना के में आधार के माध्यम से भुगतान प्रक्रिया जिसे DBT के नाम से जाना जाता है, अपनाई गई है । क्योंकि इस प्रक्रिया में भुगतान असफल होने के संयोग बहुत कम होते हैं।

    महिलाओं के स्वयं के आधार लिंक होने से अर्थात DBT सक्रिय बैंक खाता होने से, पैसा सीधे महिलाओं के हाथ में जाएगा । जिससे उस राशि का उपयोग आवश्यकता अनुसार अपने कार्य में उपयोग करने के लिए स्वतंत्र होंगे।

          महिलाओं के हाथ में पैसा आने से परिवार के निर्णय में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेगी। साथ ही लाभ मिलने से महिलाएं अपने स्तर से छोटे-छोटे व्यवसाय भी शुरू कर सकती हैं। जिससे उनको आत्मनिर्भर बनने में काफी मदद मिलेगी।

मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना का लाभ लेने के लिए पात्रता-

  • इस योजना का लाभ लेने के लिए मध्य प्रदेश की स्थाई निवासी होना आवश्यक है।
  • वैसी महिलाएं जो विवाहित हो, जिनमें विधवा, तलाकशुदा एवं परित्यक्ता महिला भी शामिल हैं।
  • प्रत्येक वर्ष की 1 जनवरी तक उस महिला की उम्र कम से कम 21 वर्ष होनी चाहिए और 60 वर्ष की आयु से कम होनी चाहिए।

मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना के अंतर्गत अपात्रता-

  • वैसी महिलाएं जिनके परिवार की सम्मिलित रूप से वार्षिक आय 2.5 लाख रुपए से अधिक होगी इस योजना का लाभ नहीं प्राप्त कर सकेंगे।
  • वैसी महिलाएं जिनके परिवार का कोई भी सदस्य इनकम टैक्स रिटर्न भरते हों, उन्हें भी इस योजना का लाभ नहीं मिल पाएगा।
  • वैसी महिलाएं जिनके परिवार का कोई भी सदस्य भारत सरकार या राज्य सरकार के शासकीय विभाग या उपक्रम या मंडल या स्थानीय निकाय में नियमित या स्थाईकर्मी या संविदाकर्मी के रूप में नियोजित हैं या रिटायर होने के बाद पेंशन प्राप्त कर रहे हैं, उन्हें भी इस योजना के लाभ से वंचित रखा जाएगा।

                       किंतु वैसे परिवार जो समाज सेवी या आउटसोर्सिंग एजेंसी के माध्यम से नियोजित कर्मचारी के रूप में कार्य कर रहे हैं, उन्हें इस योजना का लाभ दिया जाएगा।

  • जो महिलाएं स्वयं भारत सरकार या राज्य सरकार की किसी भी योजना के अंतर्गत प्रत्येक माह ₹1000 की राशि या उससे अधिक राशि प्राप्त कर रही है, उन्हें भी इस योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा।
  • वैसी महिलाएं जिनके परिवार का कोई भी सदस्य वर्तमान में या पूर्व में विधायक या सांसद रह चुके हैं, उन्हें भी इस योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा।
  • वैसी महिलाएं जिनके परिवार का कोई सदस्य भारत सरकार या राज्य सरकार के बोर्ड, निगम, मंडल, उपक्रम इनमें से किसी का अध्यक्ष या संचालक या सदस्य या उपाध्यक्ष हैं उन्हें भी इस योजना के पात्र नहीं माना जाएगा।
  • वैसी महिलाएं जिनके परिवार के सदस्यों के पास संयुक्त रूप से कुल 5 एकड़ से अधिक भूमि, कृषि कार्य करने के लिए हों तो उन्हें भी इस योजना के लाभ से वंचित रखा जाएगा।
  • वैसी महिलाएं जिनके परिवार के सदस्यों के नाम से पंजीकृत चार पहिया वाहन हो (ट्रैक्टर को छोड़कर) उन्हें भी इस योजना का लाभ नहीं मिल पाएगा।

Mukhya Mantri Ladli Bahana Yojana के तहत सहायता राशि-

  1. प्रत्येक महिला को, जो इस योजना के लाभ लेने के पात्र हैं, ₹1000 प्रतिमाह आवेदिका को अपने आधार लिंक बैंक खाते (और उस खाते का ई-केवाईसी किया गया हो,अर्थात डीबीटी सक्रिय खाता होना चाहिए।) में भेज दिया जाएगा।
  2. किसी परिवार की 60 वर्ष से कम उम्र की महिला, जिनको सामाजिक सुरक्षा पेंशन या अन्य किसी योजना से प्रतिमाह ₹1000 से कम राशि प्राप्त हो रही है, तो उतनी ही अतिरिक्त राशि इस योजना में स्वीकृत की जाएगी। जिससे उसे कुल ₹1000 की राशि प्रत्येक माह प्राप्त हो सके।

Mukhya Mantri Ladli Bahana Yojana के तहत आवेदन करने की विधि-

  •   इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक दो तरीके से आवेदन कर सकेंगे पहला आधिकारिक वेबसाइट (पोर्टल) के माध्यम से दूसरा मोबाइल ऐप के माध्यम से।
  • सबसे पहले आवेदिका को एक फॉर्म भरने की आवश्यकता होगी। यह फॉर्म आंगनवाड़ी केंद्र, कैम्प, आयुक्त महिला बाल विकास कार्यालय,ग्राम पंचायत या वार्ड कार्यालय के माध्यम से उपलब्ध होगी या फॉर्म स्थानीय स्तर पर भी छपावाये जा सकते हैं।
  • आवेदक को भरने के बाद,आवेदन फार्म की ऑनलाइन प्रविष्टि के लिए कैंप का आयोजन, प्रत्येक ग्राम या शहरी वार्ड स्तर पर किया जाएगा। कैंप का आयोजन इस तरह से किया जाएगा कि कैंप क्षेत्र के सभी पात्र महिलाओं का फार्म 30 अप्रैल तक पोर्टल या मोबाइल ऐप पर प्रविष्ट करा दिए जा सकें।
  • कैंप की सूचना कैंप स्थल पर एवं नजदीकी आंगनबाड़ी केंद्र पर कार्यकर्ताओं को सूचित करते हुए सूचना आंगनबाड़ी केंद्र पर भी चिपकाया जाएगा।
  • फार्म, कैंप आयोजन के पूर्व या कैंप के दिन भी भरा जा सकता हैं । फॉर्म भरवाने के लिए या आवेदन फार्म की ऑनलाइन प्रविष्टि के लिए महिलाओं से किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जाएगा। साथ ही फार्म भरवाने में महिलाओं की मदद के लिए ग्राम स्तर पर उपलब्ध कर्मी एवं वॉलिंटियर्स की निःशुल्क सेवाएं ली जा सकेंगी।
  • भरे गए आवेदन का वार्ड कार्यालय या ग्राम पंचायत या कैंप के माध्यम से भी ऑनलाइन प्रविष्टि की जाएगी‌। इसके बाद प्रत्येक आवेदक को आवेदन की पावती भी दी जाएगी।
  • यह पावती पोर्टल से या ऐप से सीधे एसएमएस के माध्यम से या व्हाट्सएप के माध्यम से आवेदिका को प्राप्त होगा। इस प्रक्रिया में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहयोग करेंगी। आवेदन पत्र भरने की प्रक्रिया पूर्णतः निःशुल्क होगी।
  • आवेदिका को स्वयं कैंप या वार्ड कार्यालय या पंचायत कार्यालय क्या ग्राम पंचायत कार्यालय पर उपस्थित होना होगा क्योंकि आवेदन की प्रक्रिया के दौरान आवेदिका का लाइव फोटो लिया जाएगा साथ ही आवश्यक कागजात लाने होंगे जो कुछ इस प्रकार है-

           1. परिवार की समग्र आईडी

           2. स्वयं की समग्र आईडी

           3. स्वयं का आधार कार्ड

4.  स्वयं काआधार लिंक  डीबीटी सक्रिय बैंक खाता एवं मोबाइल नंबर (जिस पर आवेदन की ऑनलाइन प्रविष्टि के दौरान ओटीपी भेजा जाएगा) I

  • आवेदन पत्र प्राप्त करने की अंतिम तिथि के बाद आवेदकों की अंतिम सूची, पोर्टल व मोबाइल ऐप पर भी उपलब्ध होगा, साथ ही इसका प्रिंटआउट ग्राम पंचायत या वार्ड स्तर के सूचना पटल पर भी चिपकाया जाएगा।
  • अंतिम सूची निकालने के बाद सूची पर 15 दिन तक पोर्टल या मोबाइल ऐप के माध्यम से आपत्ति दायर की जाएगी। इसके अलावे पंचायत सचिव या वार्ड प्रभारी को लिखित रूप में या सीएम हेल्पलाइन नंबर 181 के माध्यम से भी आपत्ति दायर की जा सकेगी।
  • प्राप्त आपत्तियों को पंचायत सचिव या वार्ड प्रभारी द्वारा पोर्टल या मोबाइल ऐप पर दर्ज किया जाएगा।
  • प्राप्त किए गए आपत्तियों को आपत्ति निराकरण समिति द्वारा क्षेत्र के आधार पर 15 दिनों के अंदर निराकरण किया जाएगा।
  • ग्राम पंचायत क्षेत्र से प्राप्त आपत्ति का निराकरण जनपद पंचायत क्षेत्र के कार्यपालन अधिकारी, नायब तहसीलदार, परियोजना अधिकारी और महिला एवं बाल विकास समिति के माध्यम से किया जाएगा।
  • नगर निगम क्षेत्र से प्राप्त आपत्तियों का निराकरण नगर निगम आयुक्त, परियोजना पदाधिकारी, शहरी विकास अभिकरण एवं जिला कार्यक्रम अधिकारी, महिला व बाल विकास समिति के माध्यम से की जाएगी।
  • नगर परिषद एवं नगर पालिका क्षेत्र की प्राप्त आपत्तियों का निराकरण तहसीलदार, सीएमओ एवं परियोजना पदाधिकारी व महिला एवं बाल विकास समिति के माध्यम से की जाएगी।
  • समस्त आपत्तियों को 15 दिनों के समय सीमा में जांच करने के बाद स्वीकृत आवेदकों व अस्वीकृत आवेदकों की सूची पोर्टल एवं मोबाइल ऐप के माध्यम से जारी की जाएगी। साथ ही सूची का प्रिंट आउट ग्राम पंचायत या वार्ड स्तर पर भी उपलब्ध की जाएगी। जो आवेदक इस योजना के लाभ के पात्र होंगे, उनके लिए ग्राम सचिव या वार्ड प्रभारी द्वारा स्वीकृति पत्र भी जारी किया जाएगा ।
  • आवेदन फार्म की ऑनलाइन प्रविष्टि के लिए कैंप का आयोजन प्रत्येक ग्राम या शहरी वार्ड स्तर पर किया जाएगा कैंप का आयोजन इस तरह से किया जाएगा कि कैंप क्षेत्र के सभी पात्र महिलाओं के फॉर्म 30 अप्रैल तक पोर्टल या मोबाइल ऐप पर प्रविष्ट करा दिए जायेंगे।
  • कैंप की सूचना कैंप स्थल पर एवं नजदीकी आंगनबाड़ी केंद्र पर कार्यकर्ताओं को सूचित करते हुए सूचना आंगनबाड़ी केंद्र पर चिपकाया जायेगा।
  • फार्म, कैंप आयोजन के पूर्व या कैंप के दिन भी भरवाये जा सकते हैं । फार्म भरवाने के लिए महिलाओं से किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जायेगा । साथ ही फॉर्म भरने में महिलाओं की मदद के लिए ग्राम स्तर पर उपलब्ध कर्मी एवं वॉलिंटियर्स की निशुल्क सेवाएं ली जायेगी।
योजना का नाममुख्यमंत्री लाडली बहना योजना
योजना की मूल पात्रता मध्यप्रदेश के स्थायी निवासी
योजना की शुरुआत28 जनवरी 2023
योजना शुरू करने वाले का नामश्री शिवराज सिंह चौहान
उम्र -सीमाकम से कम 21 वर्ष और 60 वर्ष की आयु से कम
लाडली बहना सेना दिशा -निर्देश यहाँ क्लिक करें
CM हेल्प लाइन नंबर181
समग्र पोर्टल ऑफिसियल वेबसाइटयहाँ क्लिक करें
ऑफिसियल वेबसाइटयहाँ क्लिक करें
ऑफिसियल ईमेलladlibahna.wcd@mp.gov.in
हेल्प लाइन नंबर0755-2700800

मुख्यमंत्री लाडली बहन योजना से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण तिथि-

  • आवेदन प्राप्त करने की अवधि 5 मार्च से 15 मार्च 2023 तक तय की गई है।
  • आवेदन प्राप्त करने के बाद अंतिम सूची जारी करने की तिथि 1 मई 2023 तय की गई है।
  • अंतिम सूची पर आपत्ती दायर करने की अवधि 1 मई से 15 मई 2023 तक की गई है।
  • प्राप्त आपत्ति को निराकरण करने के लिए तय की गई अवधि 16 मई से 30 मई 2023 है।
  • आपत्ति के निराकरण के बाद अंतिम सूची जारी करने की तिथि 31 मई 2023 तय की गई है।
  • आगे आने वाले प्रत्येक माह में महिलाओं के खाते में राशि भुगतान करने की तिथि 10 तारीख तय की गई है।

लाडली बहना सेना

     मुख्यमंत्री लाडली बहन योजना को और महिलाओं के कल्याण हेतु संचालित शासन की समस्त योजनाओं को सुचारू रूप से चलाने के लिए और मुख्यमंत्री लाडली बहन योजना के बेहतर क्रियान्वयन और कार्य पर निगरानी रखने के लिए इस योजना के अंतर्गत 21 वर्ष से 60 वर्ष के आयु वर्ग के लाभान्वित महिलाओं को सम्मिलित करते हुए लाडली बहना सेना 2023 का गठन किया गया है। यदि दूसरे शब्दों में कहा जाए तो-

महिलाओं के कल्याण के लिए प्रदेश में जितनी भी योजनाएं चलाई जा रही हैं उन सभी योजनाओं को सफल बनाने के उद्देश्य से लाडली बहना सेना 2023 का गठन किया गया है।

लाडली बहना सेना के उद्देश्य निम्नलिखित हैं-

  • सामाजिक व आर्थिक स्तर पर महिलाओं के विकास को बढ़ावा देना।
  • समाज में महिलाओं से संबंधित मुद्दे को प्रस्तुत करने की आजादी देना।
  • महिलाओं व बालिकाओं के प्रति जो समाज में नकारात्मक विचारधाराएं हैं जिस प्रकार की सोच है उसमें बदलाव लाना।
  • प्रदेश में महिलाओं व बालिकाओं के कल्याण के लिए जितनी भी योजनाएं चल रही हैं, सभी को सुचारू रूप से चलाना।
  • सभी महिलाएं अपने मौलिक अधिकार व कर्तव्य के प्रति जागरूक हो साथ ही इनका प्रयोग करने में सक्षम हो।
  • ग्रामीण व शहरी स्तर पर एक ऐसा सुनियोजित प्लेटफार्म प्रदान करना, जिससे महिलाओं व बालिकाओं को स्वयं के अस्तित्व का विकास हो।
  • स्वास्थ्य, रोजगार, सामाजिक सुरक्षा, पोषण आदि के क्षेत्र में आत्मनिर्भर हों,ताकि किसी भी परिस्थिति में स्वयं निर्णय ले सकें।

निष्कर्ष 

       जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं, वर्षों से महिलाओं को समाज में अन्याय और बिना किसी आधार के किसी महिला के प्रति कुछ भी धारणा बना दिया जाता रहा है, और भी बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ता रहा है । 

दूसरी ओर बदलते समय के साथ महिलाओं ने अपना संघर्ष को जारी रखा और बड़ी-बड़ी ऊंचाइयों को छुआ। जैसे-मैरी कॉम, पीवी सिंधु, गीता गोपीनाथ आदि।

सिर्फ और सिर्फ महिलाओं को समाज में उनके वास्तविक अधिकार को प्राप्त करने के लिए उन्हें सक्षम बनाने की आवश्यकता है। जिससे वह जीवन से जुड़े सभी फैसले स्वयं कर सके साथ ही परिवार और समाज में अच्छे से रह सकें । 

महिलाओं में ऐसी ताकत है कि वह देश व समाज को बदल सकती है । भारत की आधी आबादी महिलाओं की है। विश्व बैंक की एक रिपोर्ट के अनुसार यदि महिला रोजगार में योगदान दें, तो भारत आर्थिक विकास के दृष्टिकोण से सभी देशों को पीछे छोड़ देगा।

 भारत की महिलाओं का रोजगार में सहभागिता, दक्षिण एशिया में पाकिस्तान के बाद सबसे कम है। वहीं नेपाल भूटान और बांग्लादेश में जनसंख्या की दृष्टिकोण से महिलाओं को ज्यादा रोजगार उपलब्ध है।

            मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना महिलाओं के साथ साथ उन पर आश्रित बच्चों को सामाजिक, आर्थिक व राजनीतिक स्तर पर प्रोत्साहन का कार्य कर रही है। जिससे महिलाओं की स्थिति में सुधार आएगा और उनके बच्चों में शिक्षा, पोषण व स्वास्थ्य में भी सुधार आएगा।

इस योजना से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण बिंदु-

  • वैसी महिलाएं योजना के पात्र होगी जिनकी उम्र आगामी वर्ष में 1 जनवरी को कम से कम 21 वर्ष पूर्ण हो रहा हो वह 60 वर्ष से कम हो।
  • जिनके परिवार की सम्मिलित रूप से वार्षिक आय 2.5 लख रुपए से अधिक है, उन्हें इस योजना के पात्र नहीं माना जाएगा।
  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य महिलाओं को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाना, उनके स्वास्थ्य व पोषण में लगातार सुधार एवं परिवार के निर्णय में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के योग्य बनाना है।
  • यह योजना केवल विवाहित, तलाकशुदा, विधवा और परित्यक्त महिलाओं के लिए ही है।
  • वैसी महिलाएं जो मात्र आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका या आशा कार्यकर्ता के रूप में या अन्य मान-सेवी कर्मी के रूप में कार्य करते हैं वह इस योजना का लाभ लेने के पात्र होंगे।
  • एक ही परिवार में एक से अधिक पात्र महिलाएं भी इस योजना का लाभ उठा सकेंगी ।
  • बैंक खाते को आधार लिंक डीबीटी सक्रिय करने के लिए अपने बैंक की शाखा में या उस बैंक के अधिकृत कियोस्क में जाकर आधार लिंक एवं डीबीटी सक्रिय करने का सहमति पत्र भरकर देना होगा। इसके बाद उस बैंक की शाखा द्वारा या उसके अधिकृत कियोस्क के द्वारा आवेदिका की बैंकिंग ई केवाईसी सत्यापन के बाद उनके खाते में आधार लिंक डीबीटी सक्रिय कर दिया जाएगा।
  • यदि कोई आवेदिका को किसी अन्य योजना में ₹400 प्रत्येक माह दिया जा रहा है, तो इस स्थिति में उन्हें इस योजना से मात्र ₹600 प्रत्येक माह ही दिया जाएगा, अर्थात ₹1000 में शेष राशि का ही भुगतान किया जाएगा।
  • यदि आवेदिका के परिवार का कोई सदस्य स्थानीय निकाय में निर्वाचित जनप्रतिनिधि हो, तो उस आवेदिका को इस योजना के पात्र नहीं माना जाएगा। किंतु यदि उसे आवेदिका के परिवार का कोई सदस्य पंच या सरपंच पद पर हैं,तो उन्हें इस योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • आवेदिका  स्वयं समग्र पोर्टल के माध्यम से ई-केवाईसी कर सकती हैं। इसके लिए samagra.gov.in में अपनी समग्र आईडी डालकर, आधार नंबर दर्ज करना होगा तथा आधार से लिंक मोबाइल नंबर पर प्राप्त ओटीपी दर्ज कर, सफलतापूर्वक ई-केवाईसी सत्यापन हो जाएगा।

                  ई-केवाईसी सत्यापन न होने की स्थिति में आधार ई केवाईसी का अनुरोध स्थानीय निकाय

को समाधान के लिए भेज दिया जाएगा।

  • यदि आवेदिका की समग्र आईडी एवं आधार में अलग-अलग जानकारी दर्ज है, तो इस स्थिति में समग्र पोर्टल में ओवर राइट करने का प्रावधान है, जिसके बाद स्थानीय निकाय के अनुमोदन पर,साथ ही आवेदिका के सहमति पर, समग्र एवं आधार दोनों आईडी एक समान हो जाती है, और ई-केवाईसी पूरा हो जाता है।
  • यदि आवेदिका स्वयं या परिवार समग्र आईडी में सम्मिलित सदस्य इस योजना के अंतर्गत पात्र हैं, तो इन्हें इस योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • बिना ई-केवाईसी के आवेदन की प्रक्रिया आगे नहीं बढ़ेगी।
  • यदि आवेदिका के पास सदस्य समग्र एवं परिवार समग्र आईडी नहीं है,तो वह इस योजना का लाभ नहीं उठा पाएंगे। इस योजना का लाभ उठाने के लिए, उन्हें सदस्य समग्र एवं परिवार समग्र आईडी बनवाना ही पड़ेगा ।इसके लिए सबसे पहले आवेदिका को समग्र पोर्टल पर सदस्य समग्र एवं परिवार समग्र आईडी के लिए आवेदन करना होगा।
  • समग्र पोर्टल के माध्यम से आवेदिका समग्र इ-केवाईसी की स्थिति देख सकती हैं।
  • यदि समग्र आईडी में वैवाहिक स्थिति गलत दिखाई दे रही है तो इसके लिए ग्राम पंचायत या वार्ड कार्यालय पर जाकर वैवाहिक स्थिति को बदलने के लिए आवेदन करना होगा।
  • आवेदन की स्थिति देखने के लिये cmladlibahana.mp.gov.in पोर्टल पर जाना होगा।आवेदन की स्थिति पर क्लिक करना होगा एवं अपना आवेदन नंबर या सदस्य समग्र आईडी भरकर एवं समग्र रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी वेरीफाई कर आवेदन की स्थिति देखा जा सकता है।
  • किसी अपात्र आवेदिका की आपत्ति दायर करने के लिए सबसे पहले प्रकाशित अंतिम सूची में आवेदिका का नाम सर्च करेंगे। इसके बाद आवेदिका से संबंधित सारी जानकारी देख सकते हैं, एवं आपत्ति 1 मई से 15 मई तक दर्ज कर सकते हैं।
  • प्राप्त राशि की स्थिति देखने के लिये cmladlibahana.mp.gov.in पोर्टल पर जाना होगा।आवेदन की स्थिति पर क्लिक करना होगा एवं अपना आवेदन नंबर या सदस्य समग्र आईडी भरकर एवं समग्र रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी वेरीफाई कर प्राप्त राशि की स्थिति देखा जा सकता है।
  •  वैसी महिलाएं जो वर्तमान में इस योजना का लाभ उठा रही हैं। यदि वह भविष्य में इस योजना का लाभ नहीं लेना चाहती हैं, तो वह लाभ-परित्याग विकल्प का चुनाव कर, अपनी पात्रता का परित्याग कर सकती है। लाभ-परित्याग की प्रक्रिया पूर्ण हो जाने पर आवेदिका भविष्य में दोबारा मुख्यमंत्री लाडली बहन योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन नहीं कर पाएंगे।
  • आवेदिका को लाभ-परित्याग करने के लिये cmladlibahana.mp.gov.in पर जाना होगा। लाभ परित्याग विकल्प पर क्लिक करना होगा। उसके बाद आवेदन संख्या या सदस्य समग्र आईडी दर्ज करना होगा। फिर कैप्चा कोड दर्ज करना होगा साथ ही रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी वेरीफाई कर सफलतापूर्वक लाभ-परित्याग कर सकते हैं।

इन्हें भी आवश्य पढ़ें-

राजीव गाँधी किसान न्याय योजना (RGNY)- हिंदी भाषा में

मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना(MMSKY)-हिंदी भाषा में

राजीव गाँधी किसान न्याय योजना (RGNY)- in english language

मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना(MMSKY)-in english language

राजीव गाँधी भूमिहीन कृषक मजदूर न्याय योजना-in english language

मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना-in english language

Leave a comment